Saturday, April 02, 2011

अद्भुत व अप्रतिम सौन्दर्य झलकता है नेगी जी के कविता पोस्टरों में

नेगी जी का विस्तृत परिचय आपने 28 मार्च 2011 की पोस्ट में पढ़ा;

प्रस्तुत है नेगी जी के शिल्प से परिचय का तीसरा पड़ाव -
2- कविता पोस्टर - इस विधा के अंतर्गत नेगी जी ने अपने रेखाचित्रों के साथ लोकप्रिय गढ़वाली, कुमाउनी व हिंदी कवियों की उत्कृष्ट कविताओं को उकेरा है. कविता पोस्टर ही उन्हें  प्रसिदधी के उच्च शिखर पर ले गया है. कविता पोस्टर के माध्यम से ही उनके बहुआयामी व्यक्तित्व की झलक मिलती है. 






                                                                                              जारी है अगले अंक में .......           

4 comments:

  1. हा-हा.. पलायन पर उनकी कविता ने सच्चाई को आइना बता दिया !

    ReplyDelete
  2. इतनी सुन्दर जीवंत कृति देख अचंभित हूँ...

    ReplyDelete
  3. I don't even know how I ended up here, but I thought this post was great.
    I don't know who you are but definitely you're going to a famous blogger if you are not
    already ;) Cheers!

    my web-site free music downloads (http://twitter.com)

    ReplyDelete